Matric Sanskrit Official Model Paper 2022 PDF Download

Matric Sanskrit Official Model Paper Download 2022 | Bihar Board Sanskrit Model Paper

Matric Sanskrit Official Model Download 2022, Bihar Board Class 10th Sanskrit Official Model Paper 2022, Matric Sanskrit Model Paper Download 2022, BSEB Class 10th Sanskrit Official Model Paper 2022, dls education Mantu Sir, .Matric Sanskrit Official Model . Matric Sanskrit Official Model 

Matric Sanskrit Official Model Paper Download 2022

 

SECONDARY SCHOOL EXAMINATION
2022 – (ANNUAL)
Model Paper – 3
द्वितीय भारतीय भाषा – संस्कृत (SANSKRIT – SIL)

Time : 03Hrs. 15 Minutes
समय : 03 घंटे 15 मिनट
Total No of Question :- 100+5= 105
कुल प्रश्नों की संख्या :- 100+5= 105

परीक्षार्थियों के लिए निर्देश :-

1. परीक्षार्थी यथासंभव अपने शब्दों में ही उत्तर दें    Matric Sanskrit Official Model
2. दाहिनी ओर हाशिये पर दिये हुए अंक पूर्णांक निर्दिष्ट करते हैं। Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF
3. उत्तर देते समय परीक्षार्थी यथासंभव शब्द सीमा का ध्यान रखें
4. इस प्रश्न पत्र को पढ़ने के लिए परीक्षार्थियों को 15 मिनट का अतिरिक्त समय दिया गया है।
5. यह प्रश्नपत्र दो खण्डों में है – खण्ड-अ एवं खण्ड-ब।
6. खण्ड अ में 100 वस्तुनिष्ठ प्रश्न हैं। इनमें से किन्हीं 50 प्रश्नों का उत्तर देना है। यदि कोई परीक्षार्थी 50 से अधिक प्रश्नों का उत्तर देते हैं तो प्रथम 50 प्रश्नों का ही मूल्यांकन किया जाएगा। प्रत्येक के लिए 1 अंक निर्धारित है। इनका उत्तर उपलब्ध कराये गये OMR उत्तर-पत्रक में दिये गये सही वृत्त को काले/नीले बॉल पेन से भरें। किसी भी प्रकार के हाइटनर/तरल पदार्थ/ब्लेड/नाखून आदि का उत्तर पुस्तिका में प्रयोग करना मना है, अन्यथा परीक्षा परिणाम अमान्य होगा। Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF
7. खण्ड–ब में कुल 05 विषयनिष्ठ प्रश्न हैं। प्रत्येक प्रश्न के सामने अंक निर्धारित हैं।
8. किसी प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक उपकरण का प्रयोग पूर्णतया वर्जित है।Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF
खण्ड-अ (वस्तुनिष्ठ प्रश्न)
प्रश्न संख्या 1 से 100 तक के प्रत्येक प्रश्न के साथ चार विकल्प दिए गए हैं, जिनमें से कोई एक सही है। इन 100 प्रश्नों में से किन्हीं 50 प्रश्नों द्वारा चुने गये सही विकल्प को OMR उत्तर–पत्रक पर चिह्नित करें।                                                Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF 

1. अणु से छोटा कौन है ?
(A) आकाश
(B) आत्मा
(C) परमात्मा
(D) संसार

2. किसकी जय होती है ?
(A) सत्य की
(B) असत्य की
(C) क्रोध की
(D) मोह की

3. ‘अणोरणीयान् महतो………..महिमानात्मनः’ । मंत्र किस उपनिषद् से संगृहीत है ?
(A) मुण्डकोपनिषद्
(B) कठोपनिषद्
(C) श्वेताश्वतरोपनिषद्
(D) ईशावास्योपनिषद्

4. जन्तोः गुहायां कः निहितः ?
(A) आत्मा
(B) शरीरम्
(C) देवः
(D) राक्षसम्
 

5. ‘आत्मन्’ शब्द का रूप षष्ठी बहुवचन में क्या होगा ?
(A) आत्मानाम्
(B) आत्मनाम्
(C) आत्मने
(D) आत्मानाम्

6. अस्माकम् शब्द का मूल रूप क्या है ?
(A) तद्
(B) युष्मद्
(C) अस्मद्
(D) अदस्

 7. ‘अभिमानः’ में कौन उपसर्ग है ?
(A) अभि
(B) अव
(C) अधि
(D) अति

8. चरित्र का निर्माण किससे होता है ?
(A) संस्कारों से
(B) वैर भावना से
(C) अशांति से
(D) इनमें से कोई नहीं

9. ‘सीमन्तोनयन’ संस्कार कब होता है ?
(A) जन्म के पश्चात्
(B) जन्म से पहले
(C) युवावस्था में
(D) इनमें से कोई नहीं

10. ‘अस्मद्’ शब्द का षष्ठी बहुवचन रूप क्या है ?
(A) अस्माकं
(B) युवयोः
(C) मम
(D) मत्

Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF

11. कुट्टनीमतम् काव्यस्य रचनाकारः कः ?
(A) समुद्रगुप्तः
(B) दामोदरगुप्तः
(C) चन्द्रगुप्तः
(D) मेगास्थनीजः

12. कस्य महापुरुषस्य जन्मस्थानं पाटलिपुत्रे अस्ति ?
(A) गुरुनानकस्य
(B) राजाराममोहन रामस्य
(C) महावीरस्य
(D) गुरुगोविंद सिंहस्य

13. गाँधी सेतु पुल कहाँ अवस्थित है ?
(A) सासाराम में
(B) पहाड़पुर में
(C) आरा में
(D) पाटलिपुत्र में

 14. पटना नगर की पालिका देवी कौन है ?
(A) शीतला देवी
(B) काली
(C) पटन देवी
(D) गौरी

15. ‘द्रक्ष्यति’ किस लकार का रूप है ?
(A) लट्
(B) लोट
(C) लङ्
(D) लृट्

16. ‘अददाः’ किस लकार का रूप है ?
(A) लट्
(B) लोट
(C) लङ्
(D) लृट्

17. ‘उपनयन’ संस्कार का क्या अर्थ है ?
(A) बच्चे का यज्ञोपवीत करना
(B) गुरु के द्वारा शिष्य को अपने घर लाना
(C) गुरु के घर शिष्य को भेजना
(D) इनमें से कोई नहीं

18. विनयं कं हन्ति ?
(A) असत्यम्
(B) कीर्ति
(C) सत्यम्
(D) अकीर्ति

19. ‘नर’ शब्द का स्त्रीलिंग रूप क्या है ?
(A) नारी
(B) नरी
(C) नारि
(D) नरा

20. ‘गम्’ धातु का रूप लृट लकार उत्तम पुरुष एकवचन में क है ?
(A) गमिस्यति
(B) गमिष्यामि
(C) गमिष्यथः
(D) गच्छस्यति

Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF

21. ‘रूद्’ धातु लट् लकार प्रथम पुरुष एक वचन में क्या रूप होता है
(A) रोदिति
(C) रोदन्ति
(B) रोदति
(D) रूदति

22. ‘कुट्टनीमतम्’ काव्य के कवि कौन हैं ?
(A) राजशेखरः
(B) दामोदर गुप्तः
(C) विशाखदत्तः
(D) कालिदासः

23. ‘मैथिली भाषा के कवि’ कौन हैं ?
(A) भास
(B) कालिदास
(C) विद्यापति
(D) नारायण पण्डित

24. ‘नायिका’ में कौन-सा स्त्री प्रत्यय है ?
(A) डाप्
(B) टाप्
(C) चाप
(D) ङीष्

25. ‘ग्रामज्योति’ का लिखितवती ?
(A) क्षमारावः
(B) मिथिलेश कुमारी मिश्रः
(C) शांति देवी
(D) गंगा देवी

26. मूर्ख किसे कहते हैं ?
(A) जो बिना बुलाए चला जाए
(B) बिना पूछे बोलने लगे
(C) अविश्वसनीय व्यक्ति पर विश्वास करे
(D) इनमें से सभी

27. ‘मैथिल कोकिल’ के नाम से कौन प्रसिद्ध थे ?
(A) विद्यापति
(B) नारायण पण्डित
(C) कालिदास
(D) वेदव्यास

28. अलसशाला में आग किसने लगाई ?
(A) आलसियों ने
(B) मंत्री वीरेश्वर ने
(C) आलसशाला के कर्मचारियों ने
(D) विद्यापति ने

29. ‘बालकः + अवदत्’ की संधि होगी।
(A) बालकावदत्
(B) बालकोवदत्
(C) बालकोऽवदत्
(D) बालकौऽवदत्

30. ‘प्रभोऽनुग्रहः’ का संधि विच्छेद क्या होगा ?
(A) प्रभु + अनुग्रहः
(B) प्रभो + अनुग्रहः
(C) प्रभुः + ग्रहः
(D) प्रभेनु + ग्रहः

Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF

 31. ‘प्रतिष्ठा’ में कौन संधि है ?
(A) स्वर संधि
(B) व्यंजन संधि
(C) विसर्ग संधि
(D) पूर्वरूप संधि

32. “संख्यापूर्वो द्विगुः’ सूत्र का उदाहरण है ?
(A) त्रिलोकी
(B) कृतभोजनः
(C) वीरबाल:
(D) कूपपतितः

33. आधुनिक संस्कृत लेखिकासु का प्रसिद्धाः ?
(A) क्षमारावः
(B) मिथिलेश कुमारी मिश्रः
(C) शांति देवी:
(D) गंगा देवी

34. मीरा लहरी की लेखिका कौन है ?
(A) पुष्पादीक्षित
(B) तिरुमलाम्बा
(C) गंगादेवी
(D) पंडित क्षमाराव

35. किस युग में मन्त्रों की दर्शिका न केवल ऋषि बल्कि ऋषिका भी थी?
(A) सामन्त युग
(B) कलियुग
(C) वैदिक युग
(D) सतयुग

36. दक्षिण भारतीय संस्कृत लेखिका कौन है ?
(A) शीला भट्टारिका
(B) रामभद्राम्बा
(C) देवकुमारिका
(D) सभी

37. एतत् भारतम् ………सदा पूजनीयम् । रिक्त स्थानानि पूरयत ।
(A) अस्माभिः
(B) अस्मदीया
(C) अस्माकम्
(D) अस्मद्

38. ‘पूर्व पदार्थप्रधानोऽव्ययीभावः’ सूत्र का उदाहरण है :
(A) मुखकमलम्
(B) यथाशक्तिः
(C) चक्रपाणिः
(D) अहोरात्रः

 39. ‘चार्थ द्वन्द्वः’ सूत्र का उदाहरण हैं :
(A) नीलकण्ठः
(B) कृष्णाश्रितः
(C) राधाकृष्णौ
(D) पुरुषसिंहः

40. ‘दुस्’ उपसर्ग से कौन-सा शब्द बनेगा ?
(A) दुष्प्रचारः
(B) दुर्लवितः
(C) दुर्लभः
(D) दुर्नाभः

Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF

41. ‘प्र’ उपसर्ग से कौन-सा शब्द बनेगा ?
(A) पराक्रमः
(B) प्रकाशः
(C) परामर्शः
(D) पराभवः

42. ……… भारतीया धरा विशाला । रिक्त स्थानानि पूरयत
(A) अस्मद्
(B) अस्माभिः
(C) अस्माकम्
(D) अस्मदीया

43. भारत की शोभा से कौन प्रसन्न होते हैं ?
(A) देवता
(B) दानव
(C) मनुष्य
(D) कोई नहीं

44. भारत की महिमा कहाँ गाई जाती है ?
(A) देशभर में
(B) विदेशों में
(C) राज्यों में
(D) सभी जगह

45. गृहस्थ के कितने संस्कार हैं ?
(A) 1
(B) 3
(C) 5
(D) 6

46. मरने के बाद कितने संस्कार हैं ?
(A) 1
(B) 3
(C)5
(D) 6

47. प्राचीन संस्कृति की पहचान किससे होती है ?
(A) धर्मों से
(B) संस्कारों से
(C) कर्मों से
(D) धन से

 48. विदुरनीतेः संकलितः पाठस्य नाम किम् अस्ति ?
(A) नीतिश्लोकाः
(B) भारतमहिमा
(C) मंगलम
(D) मन्दाकिनीवर्णनम्

49. ‘उद्धारः’ में कौन-सा उपसर्ग है ?
(A) उत्
(B) उप
(C) उप्
(D) उ

50. ‘कुशलतः’ में प्रकृति-प्रत्यय निर्देश करें :
(A) कुशल + त्रल
(B) कुशल + तल्
(C) कुशल + तसिल्
(D) कुशल + ताल

Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF

51. ‘भवितव्यम्’ का धातु-प्रत्यय कौन है ?
(A) भू + तव्यत्
(B) भू + ण्यत्
(C) भू + यत्
(D) भू + क्त

52. ‘जीर्णः’ का धातु प्रत्यय कौन है ?
(A) जृ + क्त
(B) जृ + क्तवतु
(C) जृ + यत्
(D) जृ + ल्यप्

53. ‘नीतिश्लोक’ के रचनाकार कौन हैं ?
(A) महात्मा विदुर
(B) महात्मा वाल्मीकि
(C) महर्षि वेदव्यास
(D) कालिदास

54. किसके प्रश्न का उत्तर विदुर देते हैं ?
(A) दुःशासन के
(B) कृष्ण के
(C) अर्जुन के
(D) धृतराष्ट्र के

55. नरक के कितने द्वार हैं ?
(A) एक
(B) दो
(C) चार
(D) तीन

56. उद्योगिनं पुरुषसिंह का उपैति ?
(A) पार्वती
(B) सरस्वती
(C) महादेवी
(D) लक्ष्मी

57. शिक्षक ने किसे पढ़ाना आरम्भ किया ?
(A) बालक को
(B) बालिका को
(C) महिला को
(D) रामप्रवेश राम को

58. किसके अर्थाभाव में भी रामप्रवेश ने महाविद्यालय में प्रवेश किया ?
(A) माता के
(B) पिता के
(C) स्वयं के
(D) शिक्षक के

59. ‘साहित्य + ठक्’ से कौन शब्द निर्मित होगा ?
(A) साहित्यिक:
(B) साहीत्यिक:
(C) साहितिक:
(D) सहित्यिक:

60. ‘सर्व + बल्’ से कौन शब्द निर्मित होगा ?
(A) सर्वत्र
(B) सर्वत्रल
(C) सर्वम्
(D) शर्वत्र

Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF

61. ‘कर्तुरीप्सिततमं कर्म’ इस सूत्र का उदाहरण है-
(A) सः ओदनं खादति ।
(B) स शिष्यं दर्शनं शास्ति ।
(C) मया चन्द्रं दृश्यते ।
(D) रामः श्यामं शतं जयति ।

62. ‘हतौ तृतीया’ सूत्र का उदाहरण है-
(A) सुखेन गच्छति
(B) पुण्येन प्रभुः प्राप्यते
(C) विषमेण धावति
(D) पुण्यात् प्रभुः प्राप्यते

63. “सः प्रकृत्या कृपणः अस्ति ।’ इस वाक्य के ‘प्रकृत्या’ पद में किस सूत्र से तृतीया विभक्ति हुई है ?
(A) हेतौ तृतीया
(B) प्रकृत्यादिभ्यः उपसङ्ख्यानम्
(C) अपवर्गे तृतीया
(D) करणे तृतीया

 64. दयानन्दस्य जन्म कस्मिन् प्रांते अभवत् ?
(A) बिहार प्रांते
(B) महाराष्ट्र प्रांते
(C) गुजरात प्रांते
(D) झारखंड प्रांत

65. आर्य समाज की स्थापना किस नगर में हुई ?
(A) बंगलौर
(B) मद्रास
(C) मुम्बई
(D) पटना

66. स्वामी दयानन्द का जन्म किस प्रांत में हुआ था ?
(A) गुजरात
(B) बिहार
(C) राजस्थान
(D) पंजाब

67. ‘अयोध्याकाण्डः’ कस्य ग्रंथस्य अंशः अस्ति ?
(A) रामायणस्य
(B) महाभारतस्य
(C) भगवद्गीतायाः
(D) रघुवंशस्य

68. सीता रामचन्द्र की थी-
(A) माता
(B) पुत्री
(C) बहन
(D) पत्नी

69. ‘संस्कृतसाहित्ये लेखिकाः’ पाठ में किसके महत्त्व का वर्णन किया गया है ?
(A) पुरुषों के
(B) दुर्जनों के
(C) सज्जनों के
(D) औरतों के

70. ‘पुरुषों और नारियों के सहयोग से किसकी गाड़ी चलती है ?
(A) देश का
(B) नगर का
(C) प्रांत का
(D) समाज का

Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF

71. मंदाकिनी नदी कहाँ स्थित है ?
(A) अयोध्या में
(B) चित्रकूट में
(C) काशी में
(D) वृन्दावन में

72. व्याघ्रस्य हस्ते किम् आसीत् ?
(A) संस्कृतपुस्तकम्
(B) रजतकङ्कणम्
(C) सुवर्णकङ्कणम्
(D) गजम्

73. भोः भोः पान्था ! इदं ………गृह्यताम् । रिक्त स्थानानि पूरयत् ।
(A) सुवर्णकङ्कणम्
(B) कङ्कणम्
(C) रजतकङ्कणम्
(D) स्वर्णः

74. दानशील कौन था ?
(A) व्याघ्र
(B) दुर्जन
(C) सज्जन
(D) दानव

75. याज्ञवल्क्य ने आत्मतत्व की शिक्षा किसको दी थी ?
(A) मैत्रेयी को
(B) गार्गी को
(C) सुलभा को
(D) रामभद्राम्बा को

76. पुराणग्रंथस्य रचनाकारः कः ?
(A) चाणक्यः
(B) कालिदासः
(C) महर्षि व्यासः
(D) भर्तृहरिः

77. ‘पूषन् + अपावृणु’ की संधि होगी ?
(A) पूषनपावृणु
(B) पूषन्नपावृणु
(C) पूषायावृणु
(D) पूषनापावृणु

78. ‘कर्मणि वीरः’ का समस्त पद कौन है ?
(A) कर्मवीरः
(B) कर्मणवीर:
(C) कर्मणेवीरः
(D) कर्मणावीरः

79. ‘कालिदासः’ में कौन समास है ?
(A) तत्पुरुषः
(B) बहुब्रीहिः
(C) कर्मधारयः
(D) द्वन्द्वः

80. ‘अर्थाभावे’ का विग्रह क्या होगा ?
(A) अर्थस्य अभावे
(B) अर्थाय अभावे
(C) अर्थम् अभावे
(D) अर्थेन अभावे

Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF

 81. कस्य महिमा सर्वत्र गीयते ?
(A) देवस्य
(B) भारतस्य
(C) विश्वस्य
(D) पाटलिपुत्रस्य

82. किस जीव पर विश्वास नहीं करना चाहिए ?
(A) हिंसक
(B) अहिंसक
(C) (A) और (B) दोनों
(D) इनमें से कोई नहीं

83. लोभ मनुष्य को कहाँ ले जाता है ?
(A) उन्नति की ओर
(B) विनाश की ओर
(C) ऊपर की ओर
(D) नीचे की ओर

84. सूर्य इव, चन्द्र इव, हिमवान् इव, सागर इव तिष्ठतु ते यशः इति कः कथितवान् ?
(A) अंग
(A) कर्णः
(B) इन्द्रः
(C) अर्जुनः
(D) युधिष्ठिरः

85. कर्ण किस देश का राजा था ?
(B) मगध
(C) मिथिला
(D) काशी

86. कर्ण किसका पुत्र था ?

(A) कुंती
(B) कौशल्या
(C) कैकेयी
(D) शकुन्तला

87. भारत भूमि कैसी है ?
(A) विशाल
(B) सौन्दर्यशाली
(C) भव्य ऐश्वर्यवाली
(D) उपरोक्त सभी

88. यह निर्मल मातृभूमि कैसी है ?
(A) ऐश्वर्यवाली
(B) रम्या
(C) वत्सला
(D) इनमें से सभी

89. ‘सम्’ उपसर्ग से कौन-सा शब्द बनेगा ?
(A) सम्बन्धः
(B) सुयोग्यः
(C) सकुशलः
(D) सुपुत्रः

Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF

90. “परा’ उपसर्ग से कौन सा शब्द बनेगा ?
(A) पराजयः
(B) पाराजयः
(C) पाराजायः
(D) परिजयः

91. भिक्षुक किस वेश में आया था ?
(A) राजा
(B) भिखारी
(C) मंत्री
(D) ब्राह्मण

92. कानि मोदनानि लाभं वर्धयन्ति ?
(A) मित्रराज्यानि
(B) शत्रुराज्यानि
(C) अनेकराज्यानि
(D) सर्वाणि राज्यानि

93. अनेक राज्यों में परस्पर क्या चल रहे हैं ?
(A) उष्ण युद्ध
(B) अस्त्र युद्ध
(C) शस्त्र युद्ध
(D) शीत युद्ध

94. अशांति के कारण कितने हैं ?
(A) 1
(B) 2
(C) 3
(D) 4

95. ‘शास्त्रकाराः’ पाठे का शैली आसादिता वर्तते ?
(A) प्रश्न-शैली
(B) उत्तर-शैली
(C) प्रश्नोत्तर-शैली
(D) वार्तालाप-शैली

96. वृहत्संहिता के रचनाकार कौन हैं ?
(A) कपिल
(B) पतंजलि
(C) आर्यभट्ट
(D) वाराहमिहिर

97. जो मनुष्यों को सांसारिक विषयों की आसक्ति या विरक्ति का उपदेश देता है, उसे कहते हैं
(A) शास्त्र
(B) विवेक
(C) ज्ञान
(D) धन

98. चरक संहिता क्या है ?
(A) आयुर्वेदशास्त्र
(B) धनुर्वेदशास्त्र
(C) वास्तुशास्त्र
(D) गणितशास्त्र

99. ईर्ष्या और असहिष्णुता किसकी उत्पत्ति करते हैं ?
(A) शांति
(B) अशांति
(C) कलह
(D) प्रेम

100. अशांति से क्या होता है ?
(A) नवनिर्माण
(B) मानवता का परपीड़न
(C) मानवता का कल्याण
(D) मनुष्यता का उत्कर्ष

Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF . Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF. Matric Sanskrit Official Model Paper . 

1- B 2-A  3-B  4-A   5- B 6- C 7-B  8-B  9-B  10-A 
11- B 12-D  13-D 14-C  15-D 16-C  17-B 18-D  19-A  20-B 
21- A 22- B 23- C 24- B 25- A 26- D 27-A 28- C 29- A 30- B
31- B 32-A 33- A 34- D 35- C 36- D 37-A 38 – B 39- C 40- A
41- B 42- D 43- A 44- D 45- A 46- A 47- B 48- A 49- A 50- C
51- A 52- A 53- A 54- D 55- C 56- D 57- D 58- B 59- A 60-A
61- A 62- B 63- B 64- C 65- C 66- A 67- D 68- D 69- D 70-D
71- B 72- C 73- A 74- A 75- A 76- C 77- A 78- A 79-A 80-A
81- B 82- A 83- B 84- B 85- A 86- A 87- D 88- D 89- A 90- A
91- D 92- B 93- D 94- B 95- C 96- D 97- A 98- A 99- B 100- B

Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF. Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF. Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF.

Bihar Board 10th 12th Model Paper 2022 Download
10th Official Model Paper Download 2022 Click Here
12th Official Model Paper Download 2022 Click Here
Matric English Model Paper 2022 Click Here

Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF. Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF.

1. अधोलिखित गद्यांशों को ध्यानपूर्वक पढ़कर उस पर आधारित प्रश्नों के उत्तर निर्देशानुसार दें-

(अ) वर्तमानयुगम् विज्ञानमयम् अस्माकं सर्वासु क्रियासु विज्ञानतत्त्वानि एव विराजन्ते । पठनक्रियाम् एव पश्चन्तु । अस्मिन्नपि विज्ञानस्य सिद्धान्ताः अनिवार्यरूपेण अनुकरणीयाः । यदि न करिष्यामः तर्हि नेत्रयोः विकारः भवितुं शक्नोति । यदि पुस्तकं नेत्रयोः अति समीपे भवति तर्हि अस्माभिः तत् पठितुं न शक्यते । यदा पुस्तकम् अतिदूरं भवति तदापि पठनं दुष्करं भवति । नेत्र विशेषज्ञाः कथयन्ति यत् प्रायः पञ्चविंशतिसेण्टिमीटरमितं (25 सेमी) दूरम् अन्तरं समीचीनं भवति । तावद् दूरं पुस्तकं गृहीत्वा पठने यदि बाधा न अस्ति
तदा शोभनं परन्तु यदि न पठ्यते तदा नेत्रचिकित्सकस्य समीपं गत्वा नेत्रपरीक्षणं कारयेत् अन्यथा नेत्रदृष्टिः दुर्बला भवेत् । अति च शयानः अपि न पठेत् । प्रतिदिनं सूर्योदये नेत्र व्यायामः करणीयः येन वृद्धावस्थायाम् अपि उपनेत्रस्य आवश्यकता न भवेत् ।

प्रश्ना:
I. एकेन पदेन उत्तरत :
(i) नेत्रव्यायामः प्रतिदिनं कदा करणीयः?
(ii) पठने पुस्तकं नेत्राभ्याम् 25 सेमी दूरं भवेत् इति के कथयन्ति ?

II. पूर्ण वाक्येन उत्तरत :
(1) यदा पुस्तकम् अतिदूरं भवति तदा किं भवति ?
(ii) कति दूरात् पुस्तकं पठनीयम् ?

III. अस्य अनुच्छेदस्य कृते उचितं शीर्षकं यच्छत ।

उत्तराणि-
I. (i) सूर्योदये
   (ii) नेत्रविशेषज्ञाः

II. (i) यदा पुस्तकं अतिदूरं भवति तदा पठनं दुष्करं भवति ।
     (ii) पञ्चविंशति सेण्टिमीटरमितं दूरात् पुस्तकं पठनीयम् ।

III. वर्तमानयुगम् विज्ञानस्यम् ।

अथवा

श्रवणकुमारः श्रद्धया पितरौ सेवते स्म । दुर्भाग्यात् पितरौ नेत्राभ्याम् अन्धौ अभवत् । श्रवणकुमारः अन्धौ पितरौ यथाकालम् भोजनादिकं यक्षति स्म । तयोः सुखाय च सततं यतते स्म । एकदा श्रवणकुमारस्य माता तमवदत्-“पुत्र आवां नेत्राभ्याम् अन्धौ स्वः । आवां तीर्थयात्रायै गन्तुमिच्छावः । केन प्रकारेण आवयोः इच्छायाः पूर्तिः भविष्यति ।” श्रवणोऽवदत्- “मातः ! अलं चिन्तया । अधुना अहं युवकोऽस्मि । एकां विहङ्गिका रचयिष्यामि । एकतः भवतीं द्वितीयतः च पितरमुपवेशयिष्यामि । विहङ्गिकां च स्कन्धाभ्यामुत्थापयिष्यामि । एवं च भवतोः तीर्थयात्रा भविष्यति ।

I. एक पद में उत्तर दें:
  (1) कः पितरौ सेवते स्मः ?
   (ii) पितरौ काभ्याम् अन्धौ अभवत् ?

II. पूर्ण वाक्य में उत्तर दें :
    (i) एकदा श्रवणकुमारस्य माता तं किम् अवदत् ?
   (ii) ‘मातः ! अलं चिन्तया !’ कः कां कथितवान् ?

III. अस्य गद्यांशस्य उपयुक्तं शीर्षकं लिखत ।

उत्तराणि :
I. (i) श्रवणकुमारः ।
    (ii) नेत्राभ्याम् ।

 II. (i) एकदा श्रवणकुमारस्य माता श्रवणकुमारम् अवदत्-‘पुत्र आवाम् नेत्राभ्याम् अन्धौ स्वः । आवां तीर्थयात्रायै गन्तुमिच्छावः । केन प्रकारेण     आवयोः इच्छायाः पूर्तिः भविष्यति ।’
     (ii) श्रवणकुमार: मरम् इति कथितवान्

III. पितृभक्तः श्रवणकुमारः ।

 

(ब) अस्माकं पूर्वजैः जीवनस्य चत्वारः भागाः कृताः आसन्– ब्रह्मचर्याश्रमः : गृहस्थाश्रमः, वानप्रस्थाश्रमः संन्यासाश्रमः च । ब्रह्मचर्याश्रमस्य
एव अपरं नाम छात्र जीवनम् अस्ति । छात्रजीवनं जीवनस्य सर्वाधिक: महत्त्वपूर्णः भागः । एतत् हि जीवनस्य आधारः । दृढम् आधारं विना भवनम् दृढं न भवति । एवमेव अनुशासनमयं छात्र जीवनं विना भाविजीवनं सफलं न भवति । विद्योपार्जनं छात्रजीवनस्य प्रथमा आवश्यकता । विद्या एव मानवं पशोः पृथक् करोति । अतः आत्महितं कर्तुम् इच्छन् छात्रः परिश्रमेण विद्योपार्जनं कुर्यात् । अध्ययनं तु तपः भवति । अध्ययनाय सुखस्य विचारः अपि त्याज्यः । सुखार्थी विद्यां प्राप्तुम् न शक्नोति । उचितमेव कथ्यते-सुखार्थिनः कुतो विद्या विद्यार्थिनः कुतो सुखम् । विद्योपार्जनस्य एषः अर्थः नास्ति यद् छात्रः पुस्तककीटः भवेत् । विद्योपार्जनेन सह छात्रेण चरित्रनिर्माणम् अपि करणीयम् ।
एतदर्थ तेन महापुरुषाणां जीवनचरितानि पठितव्यानि । गुरुणां कथनानुसारेण कार्यं कर्त्तव्यम्, धर्मपुस्तकानि पठितव्यानि ।

प्रश्नाः
I. एकपदेन उत्तरत :
   (i) पूर्वजैः चत्वारः भागाः कस्य कृताः ?
   (ii) छात्रजीवनं’ इति कस्य अपरं नाम ?

II. पूर्णवाक्येन उत्तरत :
   (i) पूर्वजैः जीवनं कति भागेषु विभक्तम् ?
   (ii) भाविजीवनं किं विना सफलं न भवति ?

उत्तराणि-
I.  (i) जीवनस्य
     (ii) ब्रह्मचर्याश्रमस्य

II. (i) पूर्वजैः जीवनं चतुर्षु भागेषु विभक्तम् ।
     (ii) भाविजीवनम् अनुशासनमयं छात्रजीवनं विना सफलं न भवति ।

अथवा

अस्ति मन्दारनाम्नि पर्वते दुर्दान्तो नाम सिंह । स च सर्वदा पशूनां वधं कुर्वन् आस्ते । ततः सर्वैः पशुभिः मिलित्वा स सिंहो विज्ञप्तः-मृगेन्द्र किमर्थमेकदा बहुपशुघातः क्रियते ?

I एक पद में उत्तर दें:
   (i) दुर्दान्तो नाम कः आसीत् ?
   (ii) सः केषां वधं करोतिस्म ?

II. पूर्ण वाक्य में उत्तर दें:
    (i) दुर्दान्तो नाम सिंहः कुत्र आसीत् ?
    (ii) सर्वदा पशूनां वधं कः कुर्वन् आस्ते ?

उत्तराणि:
I. (i) सिंहः
    (ii) पशूनां

II . (i) दुर्दान्तो नाम सिंहः मन्दारनाम्नि पर्वते आसीत् ।
      (ii) सर्वदा पशूनां वधं दुर्दान्तः कुर्वन् आस्ते ।

संस्कृते पत्रलेखनम् (08 अंक)

Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF

2. निम्नलिखित में से किन्ही दो प्रश्नों के उत्तर लिखें: 2×4-8

(i) नामांकन प्रपत्र प्रदान करने के लिए विद्यालय प्रधान को एक आवेदन पत्र संस्कृत में लिखें।
 उत्तर-सेवायाम्
                     प्रधानाचार्यः महोदयः
                    राजकीय उच्च विद्यालयः, बाँकीपुर, पटना
महाशयः
सविनयं निवेदनम् अस्ति यत् अहं भवतः विद्यालयस्य छात्रः अस्मि । पूर्व बोर्ड परीक्षायाम् अहम् उत्तीर्णः अभवम् । अस्याः परीक्षायाः अंक प्रमाण पत्रम् विद्यालये आगतः अस्ति । अतः मह्यम् अंक प्रमाण-पत्रम् दत्वा माम् अनुग्रह्णन्तु ।
तिथि                                                                                                       
14 फरवरी, 2022

भवदीयः शिष्यः
अशोकः

Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF

 (ii) अपनी छोटी बहन के साथ गए शैक्षणिक यात्रा का वर्णन करते हुए अपने पिताजी को संस्कृत में पत्र लिखें ।
उत्तर-

उच्च विद्यालय, समस्तीपुर
तिथि : 08.02.2022

आदरणीय पितृश्री
               सप्रेम प्रणामाः ।
              अत्र कुशलं तत्रास्तु । अहं शैक्षणिक भ्रमणार्थाय रीतू ना सह राजगृहम् अगच्छम् । त्वं जानासि यत् सम्प्रति जीवने पर्यटनस्य महत्त्वं अत्यधिकं वर्तते । राजगृहे वनानि शोभन्ते । उष्णकुण्डाः मनं मोहयन्ति । तत्र विश्वशान्ति स्तूपः अस्ति । तत्र रज्जु मार्गः अस्ति । तत्र अनेकाः मन्दिराः सन्ति । तत्र नानाविवधानि सुन्दरतराणि दृश्यानि प्रत्यक्षं दृश्यन्ति । अनेन ज्ञानविज्ञानयोः व्यावहारिक ज्ञानं भवति । सर्वेभ्यः अभिवादनम् ।

तव भ्राता
अमित कुमारः

(iii) आपके विद्यालय में आयोजित संस्कृत संभाषण शिविर की चर्चा करते हुए अपने मित्र को एक पत्र संस्कृत में लिखें ।
उत्तर-प्रियमित्र मोहन !
                                 नमोनमः
           कुशली सन् कुशलं कामये । मम विद्यालये ह्यः आरभ्य एक दशदिनात्मक Bसंस्कृतसम्भाषणशिविरम् आरब्धम् । एतत् प्रतिदिनं सांयकाले घण्टाद्वयं भवति । शिक्षकमहोदयः संस्कृतेन पाठयति । वयं प्रथमदिनतः एव संस्कृतं वदामः । शिक्षकमहोदयस्य पाठनशैली आकर्षिका अस्ति । अहं धाराप्रवाहरूपेण संस्कृतं वदिष्यामि इति मम विश्वासः । तत्र ज्येष्ठेभ्यः प्रणामाः कनिष्ठेभ्यः शुभकामनाः
च।

तव आत्मीयः
मिहिरः

(iv) अपनी छोटी बहन के जन्मदिन की बधाई देने के लिए उसको एक पत्र संस्कृत में लिखें।

उत्तर-

21-02-2022
पटना

प्रिय श्वेता
शुभाशीषः

तव पत्रं अद्यहस्तगतं । अतीव प्रसन्नोऽस्मि यत् तव जन्मदिवसः अगामी सोमवासरे भविष्यति । अहं आगतुं असमर्थोऽस्मि । मम हार्दिक शुभकामना स्वीकुरु । अहं अग्रिम मासे गृहं आगमिष्यामि तदा जन्मदिवसोपहारं दास्यामि ।

तवाग्रजः
श्वेतकेतुः

संस्कृते अनुच्छेद-लेखनम् (07 अंक)

Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF

3. निम्नलिखित में से किसी एक विषय पर सात वाक्यों में एक अनुच्छेद लिखें :
(क) होलिकोत्सवः
(ख) वर्षाऋतुः
(ग) महात्मा गांधी
(घ) श्रमस्य महत्त्वम्
(ङ) जलसंरक्षणम्

 उत्तर-(क) होलिकोत्सवः

भारतवर्षे होलिकोत्सवः सर्वेषु प्रियः अस्ति । फाल्गुनमासे अयं उत्सवः भवति । जनाः विविधानि गुलाल-रंगानि कृत्वा परस्परं रंजयति प्रतिगृहम्
विशिष्ट पक्वान्नानि पचन्ति । द्वेषभावं विस्मृत्य सौहार्द्र प्रकट्यन्ति ।

(ख) वर्षाऋतुः

वर्षाकालः : सुखकरः भवति । अस्मिन् काले आकाशे मेघाः भवन्ति । नभः मेघान् प्रच्छन्नं भवति । ग्रीष्मकालस्य आतपस्य शान्तिः भवति ।
सरांसि जलपूर्णानि भवन्ति । पन्थानः कर्दमपूर्णाः भवन्ति । नवैः हरितैः तृणैः पृथिवी आच्छन्ना भवति । वृक्षाः स्नात्वा प्रसन्नाः भवन्ति । कोकिला: मधुरं गायन्ति । नभसि इन्द्रधनुः अतीवरमणीयम् दृश्यते । नद्यः जलपूर्णाः प्रवहन्ति ।

(ग) महात्मा गांधी

अस्माकं राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी आसीत् । अस्य जन्म गुर्जरप्रदेशस्य पोरबन्दरनगरे अभवत् । स हि गतेऽपि जीवितः एव अस्ति । यशस्विनो जनाः भौतिकेन शरीरेण नियन्ते। सत्य भाषणं सत्याचरणं तस्य जीवनादर्शनम् आसीत् । मनसि वचसि कर्मणि चतेस्य एकता आसीत् ।

(घ) श्रमस्य महत्त्वम्

श्रमस्य महत्त्वम् को न जानाति ? श्रमं बिना संसारे किमपि न भवितुं शक्नोति । अनेन एव जीविकोपार्जनं भवति । इदानीं छात्राः श्रमं न कर्तुम्
इच्छन्ति । एतेन न केवलं छात्राणाम् अपितु सम्पूर्णदेशस्य हानिः भवति । Vपरिश्रमेण एव सर्वाणि कार्याणि सिद्धं भवति न तु मनोरथमात्रेण । अस्मिन् संसारे श्रेण समं बन्धुःनास्ति ।

(ङ) जलसंरक्षणम्

जलमेव जीवनं इति आर्षवचनम् । सत्यम् जलं विना जीवनं न संभवम् । अतः जलसंरक्षणं विचारणीयं विषयम् । अद्य धरायाः जलस्तरं निम्नतरं जातम् । अस्मिन् स्थितौ विश्वसमक्षे जल संरक्षणस्य समस्या विकटरूपा वर्तते । जलसंरक्षणाय यथाशक्तिः मिलित्वा प्रयत्नवान् भवेयुः ।

संस्कृते अनुवादम् (06 अंक)

Matric Sanskrit Official Model Paper Download PDF

4. अधोलिखित में से किन्हीं छः वाक्यों का अनुवाद संस्कृत में करें:
(क) गुरु शिष्य के साथ घूमता है।
(ख) मुझे पुस्तक पढ़नी चाहिए ।
(ग) भारत महान देश है ।
(घ) इस समय श्री नरेन्द्र मोदी भारत के प्रधानमंत्री हैं ।
(ङ) इनका जन्म गुजरात में हुआ था ।
(च) गुजरात की भाषा गुजराती है ।
(छ) क्या तुम गुजराती जानते हो ?
(ज) हम सभी को संस्कृत पढ़ना चाहिए ।
(झ) संस्कृत प्राचीनतम भाषा है ।
(ब) मैं कल दिल्ली जाऊँगा ।
(ट) वे लोग भी मेरे साथ जायेंगे ।
(ठ) मुझे पर्यटन अच्छा लगता है ।

उत्तर-

(क) आचार्यः शिष्येण सह भ्रमति ।
(ख) मया पुस्तकं पठनीयम् ।
(ग) भारत महान देशः अस्ति ।
(घ) सम्प्रति श्री नरेन्द्र मोदी भारतस्य प्रधानमंत्री अस्ति ।
(ङ) अस्य जन्म गुजरात प्रदेशे अभवत् ।
(च) गुजरात प्रदेशस्य भाषा गुजराती अस्ति ।
(छ) किं त्वं गुजराती जानासि ?
(ज) अस्माभिः संस्कृतं पठितव्यम् ।
(झ) संस्कृतं प्राचीनतमा भाषा अस्ति ।
(ञ) अहं श्वः देहल्लीनगरं गमिष्यामि ।
(ट) ते अपि मया सह गमिष्यन्ति ।
(ठ) मह्यम् पर्यटनम् रोचते ।

लघु उत्तरीय प्रश्न (16 अंक)

5. निम्नलिखित में से किन्हीं आठ प्रश्नों के उत्तर दें: 8×2=16
(क) राम प्रवेश राम का घर कहाँ था और कैसा था ?
उत्तर-रामप्रवेश का घर बिहार राज्य के दुर्गम क्षेत्रों में अवस्थित भीखनटोला में था । उसका घर झोंपड़ीनुमा था ।

(ख) स्वामी दयानंद ने अपने सिद्धान्तों के संकलन के लिए क्या किया?
उत्तर-स्वामी दयानंद अपने सिद्धांतों के संकलन के लिए हिन्दी में ‘सत्यार्थ प्रकाश’ नामक ग्रंथ का निर्माण किया ।

(ग) सोने के कंगन को देखकर पथिक ने क्या सोचा ?
उत्तर-सोने के कंगन को दो देखकर पथिक ने सोचा कि ऐसा तो भाग्य से ही संभव होता है । लेकिन सभी जगह धन अर्जन करने में संदेह है

(घ) कर्णस्य दानवीरता’ पाठ के आधार पर दान के महत्त्व का वर्णन करें।
उत्तर-कर्ण के अनुसार दिया गया दान और प्राप्त यश सदैव बना रहता है । अर्थात् दान सर्वश्रेष्ठ कृति है, लेकिन दान पात्रता को ध्यान में रखकर करना चाहिए, अन्यथा दान विनाशक ही भी जाता है।

(ङ) नीतिश्लोकाः पाठ के आधार पर मूर्ख का लक्षण लिखें।
उत्तर-मूर्ख हृदयवाला अधम मनुष्य बिना बुलाये भीतर चला आता है, बिना पूछे ही बहुत बोलता है तथा अविश्वसनीय पुरुष पर भी विश्वास करता है ।

(च) राम प्रवेश राम की चारित्रिक विशेषताएँ क्या थी ?
उत्तर-रामप्रवेश राम ‘कर्मवीर कथा’ का प्रमुख पात्र है । इनका जन्म बिहार राज्य अन्तर्गत भीखनटोला में हुआ है । कभी खेलों में संलग्न रहनेवाले रामप्रवेश राम अध्यापक का सान्निध्य पाकर, विद्याध्ययन में जुट का आशीर्वाद और मेहनत उनकी सफलता की सीढ़ी बनती गयी । धनाभाव के बीच भी उन्होंने अपना अध्ययन जारी रखा । विद्यालय स्तर से लेकर प्रतियोगिता परीक्षाओं में वे प्रथम स्थान प्राप्त करते गये । केन्द्रीय लोक सेवा आयोग परीक्षा में उत्तीर्ण होकर उन्होंने समाज के समक्ष एक आदर्श प्रस्तुत कर दिया । उनकी प्रशासन क्षमता और संकटकाल में निर्णायक सामर्थ्य सभी को आकर्षित करते हैं

 (छ) आत्मा का स्वरूप कैसा है, वह कहाँ रहती है ?
उत्तर-आत्मा अणु से भी अणु एवं महान् से भी महान् है । यह मनुष्य के हृदयरूपी गुफा में अवस्थित है ।

(ज) पटना के प्रमुख दर्शनीय स्थलों का उल्लेख करें ।
उत्तर-आजकल पटना नगर अत्यन्त विशाल और बिहार की राजधानी है। दिन-प्रतिदिन इस नगर का विस्तार होता जा रहा है । गंगा के पावन तट पर बसा हुआ यह नगर अपनी प्राचीन सभ्यताओं के साथ आज भी परिपूर्ण दिखाई देता है । संग्रहालय, सचिवालय, गोलघर, तारामण्डल, जैविक उद्यान, मौर्यकालिक अवशेष, महावीर मंदिर आदि यहाँ दर्शनीय स्थल हैं। सिख सम्प्रदाय के दसवें गुरु गुरुगोविंद सिंह का जन्म-स्थल जो पटना साहिब गुरुद्वारा के नाम से प्रसिद्ध है, पटना में ही अवस्थित है।

(झ) पाटलिग्राम के सम्बन्ध में भगवान् बुद्ध ने क्या कहा था ?
उत्तर-भगवान बुद्ध ने कहा था कि यह गाँव महानगर होगा । किन्तु आपसी झगड़ा, अगलगी और बाढ़ के भय से सदैव पीड़ित होता रहेगा ।

(ञ) अलसशाला के कर्मियों ने आलसियों की परीक्षा क्यों ली?
उत्तर-अलसशाला में बहुत सारे नकली आलसी जमा हो गए थे । असली थे आलसी को पहचानने के लिए अलसशाला के कर्मियों ने आलसियों की परीक्षा ली।

(ट) अलसशाला के कर्मियों ने आलसियों को आग से कैसे और क्यों निकाला?
उत्तर-आलसी चार पुरुष जब आग से घिर गए तो एक ने कहा-यह ने कैसा कोलाहल है ? दूसरे ने कहा-शायद घर में आग लगी है । तीसरे ने
कहा-क्या कोई धार्मिक व्यक्ति नहीं है क्या जो हमारे ऊपर गीला कपड़ा डाल दे । चौथे ने कहा-अरे वाचाल कितनी बातें बोलते हो, चुप हो जाओ । ऐसा सुनकर नियुक्त पुरुषों ने मान लिया कि ये चारों वास्तविक आलसी हैं। उनके बाल पकड़कर उन्हें आग के बीच से बाहर खींच लिया गया ।

(ठ) आधुनिक काल की किन्हीं तीन संस्कृत लेखिकाओं के नाम लिखें।
उत्तर-(1) पंण्डिता क्षमाराव,

(2) मिथिलेश कुमारी मिश्रा

(3) पुष्पा दीक्षित 

(ड) विजयाङ्का कौन थी और उनका समय क्या माना जाता है ?
उत्तर-चालुक्यवंशीय चन्द्रादित्य की पत्नी विजय भट्टारिका ही विजयांका थी । इनका समय आठवीं शताब्दी माना जाता है ।

(ढ) ‘भारत महिमा’ पाठ में किन-किन पुराणों से पद्य संकलित हैं ?
उत्तर-भारत महिमा पाठ में विष्णुपुराण एवं भागवतपुराण से पद्य संकलित हैं

(ण) संस्कार का मूल अर्थ क्या है ?
उत्तर-संस्कार का मौलिक अर्थ है-स्वच्छ रूप एवं गुणों का आधान रूप विस्मृत न होना।

(त) गर्भाधान संस्कार का प्रयोजन क्या है ?
उत्तर-गर्भाधान संस्कार का प्रयोजन गर्भशिक्षा, गर्भस्थ शिशु में संस्कार की स्थापना तथा गर्भवती की प्रसन्नता ।

SUBJECT PDF Download 
 Scienceविज्ञान Download 
Mathगणित Download
Social Science सामाजिक विज्ञान Download 
 Sanskrit संस्कृत Download 
Hindi – हिन्दी   Download 
Englishअंग्रेजी  Download 
Non Hindiअहिन्दी  Download 
Urduउर्दू  Download 

Matric Sanskrit Official Model  Matric Sanskrit Official Model. Matric Sanskrit Official Model . Matric Sanskrit Official Model. Matric Sanskrit Official Model. Matric Sanskrit Official Model. Matric Sanskrit Official Model. Matric Sanskrit Official Model. Matric Sanskrit Official Model. Matric Sanskrit Official Model. Matric Sanskrit Official Model. Matric Sanskrit Official Model. Matric Sanskrit Official Model. Matric Sanskrit Official Model Matric Sanskrit Official Model.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page