Bihar Board Matric Sent Up Exam Answer Key Hindi 2023 बिहार बोर्ड मैट्रिक हिन्दी सेंटअप परीक्षा का प्रश्न उत्तर 2023

0

Bihar Board Matric Sent Up Exam Answer Key Hindi 2023 बिहार बोर्ड मैट्रिक हिन्दी सेंटअप परीक्षा का प्रश्न उत्तर 2023

Matric Sent Up Exam Answer Key 2023 – इस पोस्ट में बिहार बोर्ड द्वारा आयोजित Matric Sentup Exam 2022-23 का Question Paper दिया गया है। अगर आप भी 2023 में बिहार बोर्ड से मैट्रिक बोर्ड की परीक्षा देंगे। तो आपके लिए सेंट अप परीक्षा 2022-23 का आयोजन 15 नवंबर से 23 नवंबर तक स्कूल स्तर पर किया जा रहा है। हिन्दी (Hindi) विषय का Original Question Paper आपकी सेंट अप परीक्षा Answer के साथ दिया गया है। इस पोस्ट के माध्यम से आप Bihar Board Class 10th Sentup Exam 2022-23 के उत्तर के साथ Hindi विषय का Question Paper Download कर सकते हैं।

Bihar Board Matric Sent Up Exam Hindi Objective Answer Key –

इस पोस्ट के माध्यम से आप मैट्रिक सेंट अप परीक्षा के हिन्दी विषय के प्रश्न पत्र की पीडीएफ डाउनलोड कर सकते हैं। इसके साथ ही आप ऑब्जेक्टिव और सब्जेक्टिव प्रश्नों के उत्तर भी डाउनलोड कर सकते हैं।

Class 10th Hindi Sentup Exam Question Paper 2023
1- D 2- A  3- A 4- A 5- C 6- D 7- A
8- B 9- C 10- D 11- A 12- B 13- C 14- D
15- C 16- B 17- C 18- D 19- A 20- B 21- C
22- D 23- A 24- B 25- C 26-  B 27-  B 28- B
29- C 30- D 31- B 32- B 33- C 34- B 35- B
36- D 37- A 38- B 39- A 40- D 41- A 42- B
43- C  44- C 45- A 46- B 47- C 48-  D 49-A
50- D 51- A 52- B 53- A 54- D 55- A 56- B
57- C 58- D 59- B 60- C 61- D 62- B 63- C
64- D 65- B 66- B 67- D 68- A 69-B 70- C
71- D 72- D 73- B 74- C 75- A 76- B 77- A
78- B 79- A 80- B  81- C 82- D  83- A 84- B
85- B 86- D 87- A 88- B 89- C 90- D 91- A
92- B 93- B 94- D 95- D 96- B 97- C 98- D
99- B 100- B        
Class 10th Sent Up Exam Hindi Subjective Question 2023

नीचे दिए गए Link से आप Subjective Question का उत्तर में Download कर सकते है-

खण्ड ब – विषयनिष्ठ प्रश्न
(लघु और दीर्घ उत्तरीय प्रश्न)

प्रश्न 1. गद्यांश :-

(i) समय किसके द्वारा दिया हुआ मूल्यवान उपहार है?
उत्तर:- समय प्रकृति का दिया हुआ सबसे मूल्यवान उपहार है।

(ii) समय पर काम करने वाले व्यक्ति को क्या नहीं देखना पड़ता?
उत्तर:- समय पर कार्य करने वाले व्यक्ति को कभी निराशा का मुंह नहीं देखना पड़ता।

(iii) किस का सदुपयोग करना चाहिए?
उत्तर:- समय का हमेशा सदुपयोग करना चाहिए।

(iv) क्या संभव नहीं होता?
उत्तर:- बीते हुए समय को लौट आना संभव नहीं होता है।

(v) कौन विद्यार्थी और सफल नहीं होते?
उत्तर:- समय पर नहीं पढ़ने वाले विद्यार्थी कभी सफल नहीं होते।

प्रश्न Q 2. गद्यांश :-
(i) सूरज पर धब्बों का एक चक्र कितने वर्ष का होता है?
उत्तर:- सूरज पर धब्बों का 1 वर्ष लगभग 11 वर्ष का होता है।

(ii) दुनिया भर की खगोल वैज्ञानिक क्यों चकित हैं?
उत्तर :- पिछले कई साल से सूरज पर धब्बे दिखने बंद हो गए हैं इससे दुनिया भर के वैज्ञानिक चकित रहे हैं।

(iii) सूरज से धब्बे गायब होने के क्या अर्थ है?
उत्तर:- सूरज के धब्बों के गायब होने का अर्थ है कि उसे चुंबकीय क्षमता खत्म हो रही है और वह सिकुड़ रहा है।

(iv) सूरज अपनी चुंबकीय क्षमता खो देगा तो क्या होगा?
उत्तर:- सूरज यदि अपनी चुंबकीय क्षमता खो देगा तो उस से पृथ्वी को होने वाली हानि की कल्पना नहीं की जा सकती है मानव जीवन असंभव हो जाएगा।

(v) नासा के वैज्ञानिक के मुताबिक अब तक क्या नहीं हुआ?
उत्तर:- नासा के वैज्ञानिक के मुताबिक जानकारी में ऐसा अब तक नहीं हुआ कि सूरज पर धब्बे बिल्कुल ना दिखाई पड़े हो। Matric Sent Up Exam Answer Key

प्रश्न 3. निबंध

पर्यावरण पर निबंध

Matric Sent Up Exam Hindi Question Paper 2023 हमारा जीवन पूरी तरह से पर्यावरण पर निर्भर है, क्योंकि स्वच्छ वातावरण से ही स्वस्थ समाज का निर्माण होता है। पर्यावरण हमें जीवन को उपहार के रूप में जीने के लिए उपयोगी वे सभी चीजें प्रदान करता है।

पर्यावरण से हमें शुद्ध जल, शुद्ध वायु, शुद्ध भोजन, प्राकृतिक वनस्पति आदि प्राप्त होते हैं। लेकिन इसके विपरीत आज लोग अपने स्वार्थ और लालच के लिए वनों का दोहन कर रहे हैं, पेड़-पौधों को काट रहे हैं, साथ ही वनों का दोहन कर प्रदूषण को बढ़ावा दे रहे हैं। भौतिक सुख से प्राप्त प्राकृतिक संसाधन, जिसका प्रभाव हमारे पर्यावरण पर पड़ता है।

इसलिए लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरूक करने और प्राकृतिक पर्यावरण के महत्व को समझने के लिए हर साल दुनिया भर के लोग 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस के रूप में मनाते हैं। क्या हमने कभी जाना है कि हम इस दिन को क्यों मनाते हैं। इस दिन को मनाने के पीछे का उद्देश्य लोगों में जागरूकता पैदा करना है ताकि वे पर्यावरण की रक्षा के लिए सकारात्मक कदम उठा सकें।

और साथ ही कई बार स्कूलों में छात्रों को पर्यावरण विषय पर निबंध लिखने के लिए कहा जाता है, इसलिए आज हम आपको पर्यावरण पर अलग-अलग शब्द सीमा पर निबंध प्रदान कर रहे हैं, जिसे आप अपनी आवश्यकता के अनुसार चुन सकते हैं। क्या कर सकते हैं –
वह वातावरण जिससे पूरा ब्रह्मांड और जीव जगत घिरा हुआ है। यानी जो हमारे आसपास है वह पर्यावरण है। मनुष्य ही नहीं, बल्कि सभी जानवर, पौधे, प्राकृतिक वनस्पति आदि पूरी तरह से पर्यावरण पर निर्भर हैं।

पर्यावरण के बिना जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती, क्योंकि पर्यावरण ही पृथ्वी पर जीवन के अस्तित्व का आधार है। पर्यावरण हमें स्वस्थ जीवन जीने के लिए शुद्ध पानी, शुद्ध हवा, शुद्ध भोजन प्रदान करता है।

शांतिपूर्ण और स्वस्थ जीवन जीने के लिए स्वच्छ वातावरण बहुत जरूरी है लेकिन इंसानों की कुछ लापरवाही के कारण हमारा पर्यावरण दिन-ब-दिन गंदा होता जा रहा है। यह एक ऐसा मुद्दा है जिससे सभी को विशेष रूप से हमारे बच्चों को अवगत होना चाहिए।

प्रश्न 4.

कमला कॉलोनी ,

राम राय रोड, जौनपुर ,

(उत्तर प्रदेश)

प्रिय शिम्मु

स्नेह।

आशा है कि तुम वहां बिल्कुल ठीक होगी। हम भी यहां सब सकुशलता से है। कल समाचार-पत्र में तुम्हारे परीक्षा के परिणाम को देखकर यहां हम सभी अत्यंत प्रसन्न हुए कि तुम प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुई हो। तुमने परीक्षा में अच्छे अंक लाकर अपने मां और पापा का ही नहीं अपितु अपने बड़े गुरुजनों व अपने विद्यालय के नाम को भी रोशन किया है। तुम्हारे परीक्षा का परिणाम सुनकर मां और पापा बहुत खुश हुए। उन्होंने खुशी में सभी आस-पड़ोस के लोगों में मिठाई भी बंटवा दी है और उन्होंने भी तुम्हारी खूब तारीफ की।

मुझे तुमसे आगे भी यही उम्मीद है कि, तुम इसी प्रकार मेहनत कर अच्छे अंक प्राप्त करोगी। खूब मेहनत करो और खूब तरक्की करो। मेरी यही दुआ है कि, तुम अपनी मेहनत और लगन से सफलता के उच्चतम शिखर पर पहुँचो। घर की चिंता मत करना घर में सब ठीक है और हम सब तुम्हारे साथ हैं। कभी-भी-कोई-भी परेशानी आए तो हमसे मत छुपाना।

पुन: समस्त शुभकामनाओं के साथ।

तुम्हारी बहन

सरीन

प्रश्न 5. (क) मनुष्य जीवन से पत्थर की क्या सामान था और विषमता है? आविन्यो शीर्षक पाठ के आधार पर उत्तर लिखें।
उत्तर:- माननीय जीवन में सुख और दुख के समय समय से व्यतीत होते हैं। जीवन परिवर्तनशील पथ पर अग्रसर होता है। मानव उतार-चढ़ाव देखता है। पत्थर भी मानव की तरह परिवर्तनशील समय का सामना करता है। पत्थर भी सीट आवर्त आप दोनों का सान्निध्य पाता है। मानव अपनी प्राचीन राधा को गाता है। पत्थर भी प्राचीनता को अपने से सही जी रखता है मानव अपनी भावनाओं को प्रकट करता है परंतु पत्थर मुख रहता है।

(ख) झूले से मछलियां लेकर बच्चे दौड़ते हुए पतली गली में क्यों घुस गए?
उत्तर:- मछलियों को झूले में लेकर बचे दौड़ते दौड़ते पतली गली में इसलिए घुस गए। क्योंकि दूसरी रास्ते में बहुत भीड़ थी। और यह गली भीड़ से भरी हुई नहीं थी साथ ही पतली गली में से घर नजदीक पड़ता था।

(ग) मस्तिष्क और आत्मा का उच्चतम विकास कैसे संभव है? शिक्षा और संस्कृति शीर्षक पाठ के अनुसार उत्तर दें।
उत्तर:- शिक्षा का प्रारंभ किस तरह किया जाए की बच्ची उपयोगी दस्तकारी सीखे और जिस क्षण से वह अपनी तालीम शुरू करें उसी क्षण उन्हें उत्पादन का काम करने योग्य बना दिया जाए इस प्रकार की शिक्षा पद्धति में मस्तिष्क और आत्मा का उच्चतम विकास संभव है।

(झ) रंगप्पा कौन था? और वह मंगम्मा से क्या चाहता था?
उत्तर:- रंगप्पा मंगम्मा के ही गांव का एक लंपट किस्म का जुआरी व्यक्ति था। जो कभी कभार जुआवा खेला करता था। वह मंगम्मा से कुछ पैसा उधार चाहता था। क्योंकि वह जानता था। कि मंगामा अपने बेटे और बहू से अलग हो चुकी है। साथ ही उसे अवैध संबंध भी बनाना चाहता था।

प्रश्न – लक्ष्मण कौन था? वह कहां नौकरी करता था?
उत्तर:- लक्ष्मण लक्ष्मी के पति था। जो कोलकाता में नौकरी करता था। लेकिन लक्ष्मण की नौकरी से जो कुछ भी मिलता उससे गुजारा ना होने के कारण लक्ष्मी खुद तहसीलदार साहब के यहां छिटपुट नौकरी किया करती थी और अपना गुजारा करती थी।

Sent up Exam 2023 Class 10th
SUBJECTIVE QUESTION ANSWER PDF Download
Hindi QUESTION PAPER Download
सभी विषय का प्रश्नपत्र Download
ROUTINE Download
TELEGRAM CHANNEL Download
YOU TUBE CHANNEL SUBSCRIBE
सेंटअप परीक्षा में शामिल नहीं हुआ तो क्या होगा?

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने आधिकारिक अपडेट जारी करते हुए जानकारी दी है कि सभी छात्र इस परीक्षा में शामिल नहीं हो पाएंगे. हालांकि, छात्रों के प्रवेश पत्र जारी नहीं किए जाएंगे। यानी वे 2023 की बोर्ड परीक्षा में बैठने से वंचित रह जाएंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page